किरण खेर

किरण खेर का जीवन परिचय, उम्र, संपत्ति, और परिवार के बारे में जानें

14 जून 1952 को बेंगलुरु में जन्मी बॉलीवुड की खूबसूरत अभिनेत्री गायिका और भारतीय जनता पार्टी की सीट पर चंडीगढ़ से लोकसभा सांसद किरण खेर भारतीय फिल्म इंडस्ट्री के जाने-माने अभिनेता अनुपम खेर की पत्नी हैं। किरण खेर ने बॉलीवुड की कई बड़ी फिल्मों में एक अभिनेत्री के तौर पर काम करके खूब नाम कमाया है जिसके बाद यह राजनीति की तरफ आई और इन्होंने राजनीति में भी अपना सफल कैरियर बनाया और सांसद बनी।

किरण खेर ने अपनी प्रारंभिक पढ़ाई पंजाब के कई अलग-अलग स्कूलों से पूरी करने के बाद पंजाब यूनिवर्सिटी से स्नातक की डिग्री हासिल की, किरण खेर ने अपनी पहली शादी के बाद अपने अभिनय करियर को शुरू करना चाहा और 1980 के दौर में वह काफी स्ट्रगल करती थी और उन्हें फिल्मों में रोल नहीं मिलता था, जहां उनकी मुलाकात अनुपम खेर से हुई थी और इन दोनों ने मिलकर 1985 में एक ड्रामा प्रस्तुत किया था जिसका नाम चांदपुर की चंपाबाई था और यह काफी पसंद हुआ था।

ऊंचाई एवं शारीरिक दक्षता

66 साल की उम्र होने के बाद भी किरण खेर काफी खूबसूरत नजर आती है और वह टेलीविजन पर कई शो में बतौर जज काम करती है, किरण खेर की लंबाई 168 सेंटीमीटर है और उनका वजन 68 किलोग्राम के आसपास है जिसकी वजह से वह काफी फिट नजर आती है।

माता-पिता एवं परिवार

किरण खेर के पिता का नाम ठक्कड़ सिंह संधू था और उनकी मां का नाम दलजीत कौर था किरण खेर के एक भाई है जिनका नाम अमरदीप संधु है और वह एक आर्टिस्ट है और इनकी 2 बहने हैं जिनके नाम सरनजीत सिंह संधू है और कनवर ठक्कर सिंह है जो कि एक बैडमिंटन खिलाड़ी है।

विवाहित जीवन

किरण खेर ने गौतम बेरी के साथ शादी किया था जो कि एक बिजनेस थे और इन दोनों का एक बेटा भी हुआ जिसका नाम सिकंदर खेर है। 1985 में एक साथ काम करने के दौरान किरण खेर ने अनुपम खेर के साथ शादी कर लिया था और उन्होंने अपने पहले पति को तलाक दे दिया। अब इन दोनों का वैवाहिक जीवन काफी लंबे समय से अच्छे से व्यतीत होता है और उनका बेटा सिकंदर खेर बॉलीवुड का मशहूर अभिनेता है।

करियर

किरण खेर ने 1983 में पंजाबी भाषा की फिल्म से अपने करियर की शुरुआत की थी लेकिन यह फिल्म 1996 में रिलीज हुई थी इस दौरान उन्होंने 1987 में अनुपम खेर के साथ एक फिल्म में काम किया था जिसमें उन्हें छोटा सा रोल मिला था।

किरण खेर इसके बाद फिल्मों से काफी दूर रही लेकिन इन्होंने 1990 में अभिनय के क्षेत्र में वापसी किया और थिएटर में उन्होंने ड्रामा सालगिरह में काम किया और जो काफी फेमस हुआ था, इसके बाद किरण खेर टेलीविजन की दुनिया में वापसी की और उन्होंने जी टीवी पर प्रसारित होने वाले तीन शो में होस्ट की भूमिका निभाई थी।

उन्होंने 1996 में फिल्मों में फिर से वापसी करते हुए फिल्म सरदारी बेगम में काम किया और इस फिल्म के लिए उन्हें अवार्ड भी प्राप्त हुआ था इसके दौरान उन्होंने 1999 में एक बंगाली फिल्म में भी छोटा सा किरदार निभाया जिसके लिए उन्हें नेशनल फिल्म अवार्ड समारोह में बेस्ट एक्ट्रेस का अवार्ड प्राप्त हुआ था।

किरण खेर ने 2002 में रिलीज हुई शाहरुख खान, ऐश्वर्या राय और माधुरी दीक्षित की फिल्म देवदास में काम किया और इस फिल्म के लिए उन्हें बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का फिल्म फेयर अवार्ड नॉमिनेशन मिला जिसके बाद 2003 में उन्होंने भारत के पार्टीशन पर बनी फिल्म खामोश पानी में काम किया।

2005 में उन्होंने सहारा वन चैनल पर प्रसारित होने वाले टेलीविजन धारावाहिक प्रतिमा में सुनंदा का किरदार निभाया था इसके अलावा उन्होंने टेलीविजन धारावाहिक दिल ना जाने क्यों में काम किया था जो जी टीवी पर प्रसारित हुआ था।

किरण खेर के बेहतरीन अभिनय को देखकर उन्हें आगे कई बड़ी फिल्मों में सहायक अभिनेत्री का किरदार निभाने का मौका मिला और उन्होंने 2004 में हम तुम और वीर जारा जैसी सुपरहिट फिल्मों में काम किया। 2006 में रिलीज़ हुई फ़िल्म में रंग दे बसंती में उन्होंने काफी अच्छा सहायक अभिनेत्री का किरदार निभाया था जिसके लिए उन्हें दूसरी बार फिल्म फेयर अवार्ड के लिए नॉमिनेशन मिला और यह फिल्म ब्लॉकबस्टर साबित हुई थी।

2006 में उन्होंने फना और कभी अलविदा ना कहना जैसी सुपरहिट फिल्मों में भी काम किया जिसमें उनके अभिनय की जमकर तारीफ हुई थी। 2009 में किरण खेर को टेलीविजन पर प्रसारित होने वाले शो इंडियाज गॉट टैलेंट में बतौर जज नियुक्त किया गया और इसके अलावा कई और कार्यक्रमों में वो एक जज के रूप में काम करती हैं।

Leave a Reply