सीमा पाहवा

गंगूबाई की सीमा पाहवा के छिपे हैं कई राज, जो नहीं जानते होंगे आप

सीमा पाहवा (Seema Pahwa) एक भारतीय अभिनेत्री और फिल्म निर्माता हैं। सीमा का जन्म 10 फरवरी 1962 को दिल्ली में हुआ था। सीमा वर्तमान में 60 वर्ष की है और एक हिन्दू परिवार से है।

परिवार

इनके पिता के नाम की कोई जानकारी नहीं है जब सीमा छोटी थीं तभी इनके पिता का निधन हो गया था। इनकी माँ का नाम सरोज भार्गव है, जो कि आल इंडिया रेडियो और दूरदर्शन में काम करती है। इनके एक भाई की मृत्यु कुछ साल पहले हो गई थी और इनका दूसरा भाई अभय भार्गव भी है, जो कि एक अभिनेता है। इनकी एक छोटी बहन भी है, जिसकी शादी हो चुकी है।

ऊंचाई और बॉडी मेजरमेंट्स

बात अगर इनके फिजिकल अपीयरेंस की हो तो आपको बता दे कि सीमा की हाइट 165 सेंटीमीटर यानी 1.65 मीटर और फुट में 5’5″ है। फिजिकली फिट सीमा का वेट 165 पाउण्ड यानी kg में 75 kg है। इनकी आँखे और बाल काले है।

पति और बच्चे

इनका विवाह 23 जनवरी 1988 को मनोज पाहवा से हुआ जो कि एक लोकप्रिय अभिनेता हैं। इनका बेटा मयंक पाहवा भी अभिनेता है और बेटी मनुकृति भी अभिनेत्री है।

फिल्मी कैरियर

सीमा पाहवा की माँ एक स्टेज आर्टिस्ट थीं और सीमा बचपन में उनके साथ स्टेज शो में जाती थी, उसी दौरान जब ये सिर्फ 5 साल की थी उस वक्त इन्होंने बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट ऑडिशन दिया था। इसके बाद ये कई अन्य बॉलीवुड फिल्मों में भी बाल कलाकार के रूप में काम कर चुकी है।

इन्होंने बतौर थियेटर आर्टिस्ट संभव समूह, श्री राम सेंटर, एलटीजी और नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा रिपर्टरी कंपनी के साथ काम किया है।

इन्होंने कई थियेटर नाटक में काम किया है, जिनमे से आधे अधूरे, खामोश अदालत जारी है और क़ैद-ए-हयात जैसे लोकप्रिय नाटक शामिल है।

इन्होंने साल 1984 में आये टीवी सीरियल हम लोग से छोटे पर्दे पर शुरुआत की थी। इसके बाद इन्होंने पहला प्यार, हिप हॉप हुर्रे, आंधी और लाखों में एक जैसे टीवी सीरियल में काम किया है।

छोटे पर्दे के अलावा इन्होंने कई हिट फिल्मों में भी काम किया है, जिनमें सरदारी बेगम (1996), गॉडमदर (1999), जुबैदा (2001), तेरे बिन लादेन (2010), फेरारी की सवारी (2012), आंखों देखी (2014), और दम लगा के हईशा (2015) जैसी फिल्में शामिल है।

अपने बेहतरीन अभिनय के लिए इन्हें कई पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है। इन्हें 63 वें फिल्मफेयर पुरस्कारों में, बरेली की बर्फी (2017) और शुभ मंगल सावधान (2017) फिल्मों के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के फिल्मफेयर पुरस्कार के लिए दो बार नामांकित किया गया। फ़िल्म बाला (2019) में इनकी भूमिका के लिए उन्हें 65 वें फिल्मफेयर अवार्ड्स में सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के लिए फिल्मफेयर अवार्ड के लिए एक और नामांकन हुआ।

इतना ही नही इन्होंने रजत कपूर की आंखों देखी में 2015 के स्क्रीन अवार्ड्स में सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के लिए स्टार स्क्रीन अवार्ड भी जीता और दूरदर्शन के लोकप्रिय धारावाहिक हम लोग में बड़की का किरदार निभाकर पॉपुलैरिटी भी कमाई।

इनकी अन्य रिलीज़ में रोमांटिक कॉमेडी फिल्म बरेली की बर्फी (2017), अश्विनी अय्यर तिवारी द्वारा निर्देशित, शुभ मंगल सावधान (2017), आरएस प्रसन्ना द्वारा निर्देशित, हर्ष छाया की हिंदी कॉमेडी शामिल हैं।खजूर पे अटके (2018), अर्जुन पटियाला (2019), चिंटू का बर्थडे (2019), बाला (2019) और रामप्रसाद की तहरवी (2019) आदि इनकी प्रमुख उपलब्धियाँ हैं।

Leave a Reply