मुन्ना भैया

मुन्ना भैया और दिव्यांशु शर्मा का जीवन परिचय, परिवार और फिल्मी करियर के बारे में जानिए

युवा अभिनेता दिव्येंदु शर्मा जिन्हें लोग दिव्येंदु के नाम से जानते हैं। ये अभिनेता के अलावा मॉडल भी हैं। इन्हें प्यार का पंचनामा, टॉयलेट एक प्रेम कथा आदि में कमाल रोल प्ले करने के लिए जाना जाता है। इन्होंने अमेज़ॅन प्राइम वीडियो सीरीज मिर्जापुर में फिल्म बत्ती गुल मीटर चालू और मुन्ना भैया में बेस्ट एक्टिंग के लिए जाना जाता है।

मुन्ना भैया

लंबाई और बॉडी मेजरमेंट्स

दिव्येंदु शर्मा गुड लुकिंग स्मार्ट एक्टर हैं। इनकी हाइट लगभग 170 सेंटीमीटर और मीटर में 1.70 मीटर है अगर फुट की बात करें तो 5′ 7” है। इनकी हाइट के अनुसार इनका वेट 65 किलो बिल्कुल ठीक है।

इनकी शारीरिक माप भी और कलाकारों की तरह परफेक्ट है इनका चेस्ट 38 इंच, कमर 30 इंच और बाइसेप्स 12 इंच है। इनकी आंखों का रंग गहरा भूरा और बालों का रंग काला है जो इनके फेस को और भी आकर्षक बनाता है।

फिल्मी करियर

इनका जन्म 19 जून 1983 को दिल्ली में हुआ था अभी ये मात्र 38 वर्ष के हैं पर एक्टिग में ये काफी अनुभवी लगते हैं। इनकी राशि कैंसर है। इनका होम टॉउन दिल्ली है।

इनकी प्रारंभिक शिक्षा किरोड़ीमल कॉलेज, दिल्ली और आगे की पढ़ाई एफटीआईआई, पुणे, महाराष्ट्र से हुई इन्होंने राजनीति विज्ञान में स्नातक किया है और अभिनय में डिप्लोमा भी लिया है।

इन्होंने फ़िल्म इंडस्ट्री में फिल्म प्यार का पंचनामा से शुरुआत की ये फ़िल्म 2011 में आई थी। इनके परिवार में इनके पिता एक होटल जनपथ के सेवानिवृत्त कर्मचारी है उनके नाम की जानकारी नहीं है। इनकी माँ,भाई का नाम भी ज्ञात नहीं है। इनकी एक बड़ी बहन भी है।

हिन्दू धर्म में जन्मे दिव्येन्दु के पसंदीदा अभिनेता ओम पुरी और अनुपम खेरी हैं. इनकी गर्लफ्रेंड ज्ञात नहीं है। ये विवाहित हैं और इनकी पत्नी का नाम आकांक्षा शर्मा है अभी इन्हें कोई बेटा या बेटी नही है।

इनका जन्म और पालन-पोषण दिल्ली में हुआ और इन्होंने किरोरीमल कॉलेज (दिल्ली विश्वविद्यालय) से राजनीति विज्ञान में स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद एफटीआईआई, पुणे से अभिनय में दो वर्षीय डिप्लोमा किया।

ये पढ़ाई में अच्छे नहीं थे और बहुत मुश्किल से 49% के साथ दसवीं कक्षा की परीक्षा पास किया था। इतना कम मार्क्स के कारण इन्होंने आर्ट्स लेना पड़ा और विज्ञान का अध्ययन किए बिना इन्होंने पढ़ाई में रुचि लेना शुरू कर दिया और 84 प्रतिशत के साथ बारहवीं कक्षा की परीक्षा पास की।

इनके संघर्ष के दिनों में इनकी बड़ी बहन ने अभिनेता बनने के लिये और इनके सपने को पूरा करने के लिए नैतिक और आर्थिक रूप से इनका साथ दिया।

ये प्लेयर्स का भी हिस्सा थे और एक थिएटर मंडली और निर्देशन डी और गोल और हवाला जैसे नाटकों में भी अभिनय किया है।

इन्हें प्यार का पंचनामा में लिक्विड के रूप में अपनी पहली भूमिका निभाई। कैमरे के साथ उनकी पहली मुठभेड़ वर्जिन मोबाइल विज्ञापन श्रृंखला के लिए थी जिसमे ये सिख के रूप में नज़र आये। हालांकि बाद में उन विज्ञापनों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।

Leave a Reply