Lata Mangeshkar Death

Lata Mangeshkar Death: आखिर किस वजह से हुई लता मंगेशकर की मौत, जानिए वजह!

लता मंगेशकर की मौत का क्या है कारण, जानिए विस्तार से

Lata Mangeshkar Death – अभी पिछले साल 2021 में बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत और इरफान खान के निधन की खबर से बॉलीवुड उबरा भी नहीं है कि आज 6 फरवरी 2022 को बॉलीवुड के साथ ही पूरे दुनिया भर के लोगों के लिए एक और बुरी खबर आ गई है। जी हां हम बात कर रहे हैं बॉलीवुड में स्वर कोकिला के नाम से मशहूर गायिका लता मंगेशकर का 92 साल की उम्र में आज निधन हो गया।

लता मंगेशकर को बॉलीवुड में स्वर कोकिला के नाम से पहचाना जाता है, इनकी आवाज इतनी मीठी है कि जो भी इनके मधुर आवाज को सुनता है वह भाव विभोर हो जाता है। लता मंगेशकर 92 साल की थी और वह पिछले 8 जनवरी से मुंबई के ब्रिच कैंडी हॉस्पिटल में भर्ती थी, हाल ही में आई खबरों के मुताबिक लता मंगेशकर के स्वास्थ्य में सुधार हो रहा था लेकिन बीच में फिर से उनकी तबीयत खराब होने के कारण उनको वेंटिलेटर पर रखा गया था। आज सुबह डॉक्टरों ने पुष्टि किया कि लता मंगेशकर अब इस दुनिया में नहीं रही और आज सुबह 8:12 पर उन्होंने अंतिम सांस ली।

Lata Mangeshkar Death
Lata Mangeshkar Death

लता मंगेशकर के बारे में कुछ खास बातें, जानकर महसूस होगा फक्र

भारत के सबसे सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से 2001 में सम्मानित पार्श्व गायिका लता मंगेशकर ने बॉलीवुड के साथ ही लगभग 36 भाषाओं में अपनी आवाज का जादू बिखेरा है।

लता मंगेशकर ने लगभग 5000 गानों में अब तक अपनी आवाज दी है और उन्होंने मधुबाला से लेकर श्रीदेवी, माधुरी दीक्षित और प्रियंका चोपड़ा जैसे बड़ी अभिनेत्रियों के लिए भी फिल्मों में उनके गानों पर पार्श्व गायिका के रूप में गाना गाया है।

लता मंगेशकर की आवाज इतनी मधुर थी कि उन्हें जो भी सुनता था भाव विभोर हो जाता था, लता मंगेशकर ने अपने करियर की शुरुआत 13 साल की उम्र में मराठी फिल्मों में गाना गाकर किया था।

28 सितंबर 1929 को मध्यप्रदेश के इंदौर में जन्मी लता मंगेशकर ने काफी कम उम्र में अपने पिता को खो दिया था, अपने पिता की मृत्यु के बाद लता मंगेशकर के कंधों पर बड़ी जिम्मेदारी आ गई थी।

वह घर में सबसे बड़ी थी। जिसके बाद लता मंगेशकर को उनके पिता के एक दोस्त ने मराठी फिल्म में गाना गाने के लिए कहा और लता मंगेशकर ने शास्त्रीय संगीत की शिक्षा प्राप्त करने के बाद मराठी फिल्मों से ही संगीत के क्षेत्र में अपने करियर की शुरुआत की।

लता मंगेशकर को मराठी फिल्मों में बेहतरीन आवाज देने के लिए कई अवॉर्ड भी मिले हैं, लता मंगेशकर की खूबसूरत आवाज को सुनकर बॉलीवुड के संगीतकारों ने उन्हें अपने गानों पर पार्श्व गायिका के रूप में आवाज देने के लिए पसंद किया और वह मधुबाला, श्रीदेवी जैसी बड़ी अभिनेत्रियों के लिए आवाज दिया करती थी।

लता मंगेशकर ने बॉलीवुड की खूबसूरत अभिनेत्री माधुरी दीक्षित के कई गानों पर अपनी आवाज दी जो कि गाने आज भी लोगों के दिलों में बसे हुए हैं और लोग उनके गीतों को सुनना आज भी पसंद करते हैं। बॉलीवुड में लता मंगेशकर को लता दीदी के नाम से पहचाना जाता है और वह स्वर कोकिला के रूप में पूरी दुनिया में विख्यात है।

दुनिया के कई बड़े देश लता मंगेशकर के आवाज के जादू को सुन चुके हैं जिसके बाद कई देशों ने यह कहा कि इतना मधुर आवाज आज तक दुनिया में किसी भी व्यक्ति का नहीं हुआ है। लता मंगेशकर को उनके अच्छे संगीत और पार्श्व गायकी के लिए पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया गया है, इसके अलावा लता मंगेशकर ने फिल्मफेयर के कई बड़े अवॉर्ड भी जीते हैं।

लता मंगेशकर संगीत के क्षेत्र में भारत रत्न पाने वाली भारत की पहली महिला गायिका है और उन्होंने भारतीय संगीत को एक नई ऊंचाइयों पर पहुंचा दिया है।

अपनी बेहतरीन आवाज के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार, पद्मभूषण और महाराष्ट्र भूषण का सम्मान भी प्राप्त किया है, लता मंगेशकर को 1939 में बेहतरीन गायकी के लिए दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

लता मंगेशकर राजनीति के क्षेत्र में भी सक्रिय रही थी और वह 1999 से लेकर 2005 तक के पार्लियामेंट में राज्यसभा की सदस्य भी रह चुकी है, फिलहाल लता मंगेशकर इस दुनिया को अलविदा कह के चली गई हैं।

उनके चाहने वाले दोस्त और उनके गायकी के फैन के लिए आज का दिन काफी मुश्किलों भरा है और उनके अंतिम दर्शन के लिए मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल के बाहर लोगों की लंबी लाइन लगी हुई है और आज का दिन बॉलीवुड इतिहास के लिए काफी दुखद दिन है। जिसको भविष्य में कभी भुलाया नहीं जाएगा क्योंकि बॉलीवुड ने आज एक नायाब हीरा खो दिया है।

Leave a Reply