Pushpa Movie Bio Wiki Hindi

Pushpa Movie Bio Wiki Hindi | पुष्पा फिल्म की सफलता के पीछे का राज जानिए

Pushpa Movie Bio Wiki Hindi – पुष्पा फिल्म की सफलता के बाद पुष्पा पार्ट 2 द रूल्स बन रही है. इस फिल्म के लिए लोग काफी एक्साइटेड हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि पुष्पा पार्ट 1 क्यों इतनी बड़ी सफल हुई? आज के लिए बहुत फेमस कहावत हो गई हैं कि जीवन के लिए बीमा और इंटरटेंमेंट के लिए साउथ का सिनेमा लोगो की पहली चॉइस बन गया है।

Pushpa Movie Bio Wiki Hindi – पुष्पा मूवी के बारे में कुछ अनसुनी बातें

साल 2021 में इंडियन बॉक्स ऑफिस की टॉप 10 ग्रोसेस में सिर्फ 2 बॉलीवुड फिल्में हैं, जिन्होंने जगह बनाई है और बाकी सब साउथ की फ़िल्में हैं। 17 दिसंबर 2021 को सिनेमाघरों में पुष्पा रिलीज हुई थी। वह ऐसा टाइम था जब स्पाइडर मैन हमारी जेब से पैसे घसीट रहा था। आर आर आर, राधेश्याम, वाली मई और जर्सी जैसी फिल्में भी ओमनी क्रोन के डर से थियेटर में रिलीज होने के लिए रोक दी गई हैं। आरआरआर के लिए तो ट्रेड एनालिस्ट बोल रहे हैं कि अगर आने वाले 6 महीनों के अंदर रिलीज नहीं हुई तो इस फिल्म को भारी नुकसान हो सकता है।

मगर पुष्पा के बाद कंडीशन ऐसी हो गई है स्पाइडर-मैन को भी थिएटर में इसने पछाड़ दिया। कई सारे सिंगल स्क्रीन से तो 83 को हटा कर इसको लगाने की भी बात करी जा रही थी।

फ़िल्म ने अल्लू अर्जुन को ये कॉन्फिडेंस दिया और इन्होंने इसका पार्ट 2 इंडिया की मैक्सिमम लैंगुएज में लाने की बात कही। कहावत है कि आदमी बलवान हो तो पहलवान की भी लंगोट ढीली कर दे पुष्पा बॉक्स ऑफिस में ऐसी ही कहानी बताता है।

इतनी मुसीबतो के बाद भी इसने अक्षय कुमार की सूर्यवंशी को भी पीछे छोड़ दिया है। हिंदी बेल्ट में ये फ़िल्म सक्सेस की केस स्टडी बन गई है, लेकिन बड़ा सवाल यह है कि क्यों आखिर?

साउथ का सिनेमा लगातार सक्सेस और कंटेंट के मामले में हिंदी सिनेमा को पीछे छोड़ रहा है। इसके कुछ कारण हैं, सबसे पहला कारण रिस्क। सबसे पहले तो साउथ का सिनेमा बॉलीवुड के कंपैरिजन में सबसे ज्यादा रिस्क लेने को रेडी रहता है, खासकर तेलुगू सिनेमा हर लेबल पर खुद को प्रूफ करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है।

बाहुबली के बाद हर कोई 300 करोड़, 350 करोड़ और 400 करोड़ की फिल्में बनाने की बात कर रहा है। हर बदलते टाइम के हिसाब से चाहे नई टेक्नोलॉजी यूज करना हो या नए कैमरा एंगल। इस इंडस्ट्री ने ग्रैजुअली खुद को लगातार इंप्रूव किया है।

बॉलीवुड के लिए सबसे बड़ा चैलेंज है उसकी रेंज जो लगातार कम होती हुई दिख रही है। मल्टीप्लेक्स पर हॉलीवुड ने कब्जा जमा रखा है और सिंगल स्क्रीन पर साउथ।

साउथ फिल्म इंडस्ट्री अपना बेस्ट कॉन्टेंट ऑल ओवर इंडिया में दिखाने के लिए इतने भूखे नजर आते हैं कि खाने को मिले तो पूरा मार्केट खा जाए।

दूसरा इंपॉर्टेंट चीज है कांटेक्ट। ये साउथ से नॉर्थ तक बड़ी आसानी से पहुंचे हैं। यूट्यूब ने फ्री ऑफ कॉस्ट इनकी मूवी को लोगों के मोबाइल तक पहुंचाया है। अब तो यह उन फिल्मों से इतने प्रीमियर हो चुके हैं कि देखकर पब्लिक यह बता देती है कि कौन सी बॉलीवुड फिल्म किस साउथ फिल्म से रीमेक है।

आने वाले टाइम में 10 बॉलीवुड फिल्में रिमेक होंगी, जिसमें विक्रम वेदा जैसी फिल्म भी है। अल्लू अर्जुन की अला वैकुंठापुरामुलो की खबर आई है कि इसकी रीमेक बना रहे हैं।

प्रोड्यूसर ने 8 करोड़ गोल्ड माइन फिल्म को दिए हैं ताकि उस फिल्म का हिंदी वाला वर्जन में ना आए। क्योंकि अगर वो आई तो हिंदी वाला फिल्म देखने कौन जाएगा। इस मैटर की वजह से फिलहाल कार्तिक आर्यन चर्चा में है। उन्होंने साफ कहा है कि यदि फिल्म का हिंदी वर्जन आता है तो वह इसकी हिंदी रिमेक शहजादा से निकल जाएंगे।

इसी चीज को लेकर सलीम खान ने भी एक कमेन्ट किया था कि इंडस्ट्री में अच्छे राइटर की कमी है। दूसरी तरफ साउथ के पास अच्छे राइटर की कोई कमी नहीं है। मिनरल मुरली जैसे छोटे बजट की फिल्म को भी बहुत ही बेहतरीन तरीके से दिखाया है, लेकिन दूसरी तरफ हिंदी मूवी की 200 करोड़ों की बजट की मूवी भी बॉक्स ऑफिस पर ऐसी पिट जाती है कि बस कुछ पूछो ही मत।

Pushpa Movie Bio Wiki Hindi
Pushpa Movie Bio Wiki Hindi

सलमान, शाहरुख, आमिर और अक्षय जैसे सुपर स्टारों के अलावा इस टाइम बॉलीवुड के पास कोई ऐसा स्टार दिखाई देता है। अगर कॉन्टेंट इनके पास भी नहीं होगा तो इनकी मूवी देखने भी कोई नहीं आएगा। फॉर एग्जांपल सलमान भाई की अंतिम देखने लोग थिएटर नहीं गए और ओ टी टी पर आने का लोगों ने इंतजार किया।

यहां पर अल्लू अर्जुन के लिए थियेटर के बाहर लाइन लगी है, लेकिन समझने वाली बात यह है कि बिना कोई हिंदी फिल्म किये अल्लू अर्जुन की पुष्पा 2 बड़ी फिल्मो के साथ टक्कर के बाद भी लोगों को थिएटर तक कैसे खींच कर ला रही है।

यहीं पर एक और बात दिमाग में आती है पब्लिक इमेज। जी हां 3 इडियट, बजरंगी भाईजान, पीके जैसी फिल्मों को छोड़ दे तो इंडस्ट्री के बड़े स्टार कोई ओरिजनल स्टोरी के साथ आए हैं क्या? बायोपिक की भीड़ और एवरेज कॉन्टेंट के चलते लोगों की नजर में हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री का इमेज डाउन हुई है।

इस टाइम पर अगर आप लोगों से पूछोगे कि सबसे ज्यादा एक्साइटेड किसी फिल्म को लेकर हैं तो 10 में से 8 लोग साउथ इंडिया फिल्म का ही नाम लेंगे। यही चीज साउथ इंडिया को और भी ज्यादा कॉन्फिडेंस देता है।

Leave a Reply